पीएम मोदी 100 एकड़ भूमि पर बनने वाले सेंट्रल यूनिवर्सिटी के नए कैंपस का करेंगे भूमि पूजन

| Updated: June 17, 2022 4:08 pm

  • जल वितरण की विभिन्न परियोजनाओं को भी जनता को करेंगे समर्पित
  • 743 करोड़ रुपए की लागत से बनेगा गुजरात सेंट्रल यूनिवर्सिटी का नया कैंपस
  • 660 करोड़ रुपए की जल वितरण परियोजनाओं का भी करेंगे उद्घाटन और भूमि पूजन

पीएम नरेन्द्र मोदी अपने गुजरात दौरे पर वडोदरा को सेंट्रल यूनिवर्सिटी के रूप में एक बड़ी सौगात देने जा रहे हैं। इस दिन पीएम गाँधीनगर के सेंट्रल यूनिवर्सिटी के नए कैंपस का भूमि पूजन करेंगे। अपने दौरे पर पीएम जल वितरण संबंधी कई विकास परियोजनाओं का भी उद्घाटन और भूमि पूजन करेंगे। गौरतलब है कि पिछले दो महीने में यह प्रधानमंत्री का चौथा गुजरात दौरा होगा, जहाँ वे विभिन्न विकास परियोजनाओं को जनता को समर्पित करने जा रहे हैं।

2500 छात्र एक साथ ले सकेंगे नए कैंपस में शिक्षा

गुजरात की राजधानी गाँधीनगर में स्थित सेंट्रल यूनिवर्सिटी के नए कैंपस को 743 करोड़ रुपए की लागत से वडोदरा के पास डभोई तालुका के कुंढेला गाँव में निर्मित किया जाएगा। राज्य सरकार ने इस परियोजना के लिए 100 एकड़ ज़मीन आवंटित की है। गुजरात केन्द्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति, डॉ. रमाशंकर दूबे ने इस प्रोजेक्ट बारे में बताया कि, ‘‘गुजरात केन्द्रीय विश्वविद्यालय का यह नया कैंपस पूर्णतः आवासीय, हरित परिसरवाला तथा आधुनिक सुविधाओं से युक्त होगा जहां ढाई हजार छात्र एक साथ शिक्षा ग्रहण कर सकेंगे।

विश्वविद्यालय के नए कैंपस का मुख्य द्वार गुजरात राज्य की समृद्ध संस्कृति का प्रतीक होगा। इस प्रोजेक्ट का पहला चरण दिसम्बर 2023 में पूरा कर लिया जाएगा।’’

गुजरात केन्द्रीय विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार प्रो. एच. बी. पटेल ने नए कैंपस की विशेषताओं के बारे में जानकारी देते हुए कहा, ‘‘विश्वविद्यालय के नए कैंपस में 5 बड़े शैक्षणिक ब्लॉक होंगे, जिसमें स्कूल ऑफ केमिकल साइंसेज, लाइफ साइंसेज, नैनो साइंस, इन्वायर्मेन्टल एंड सस्टेनेबल डेवलपमेन्ट, अप्लाइड मटेरियल्स साइंस, राष्ट्रीय सुरक्षा, अंतर्राष्ट्रीय संबंध, और प्रवासी अध्ययन जैसे कई विशेष विषय शामिल होंगे।

प्रयोगशालाएँ और सभी व्याख्यान कक्ष अंतरराष्ट्रीय स्तर के होंगे और आधुनिक उपकरणों से युक्त होंगे।’’

गुजरात की शिक्षा व्यवस्था के बारे में बात करते हुए मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल ने कहा, ‘‘प्राथमिक शिक्षा से लेकर उच्च शिक्षा तक, तकनीकी शिक्षा से लेकर सेक्टर स्पेसिफिक एजुकेशन सेक्टर तक, मोदी ने गुजरात में शिक्षा क्षेत्र का 360 डिग्री विकास किया है।

इसके पहले भी कुछ महीने पूर्व प्रधानमंत्री ने राष्ट्रीय रक्षा शक्ति यूनिवर्सिटी और फॉरेन्सिक साइंस यूनिवर्सिटी को राष्ट्रीय दर्जा देकर गुजरात को एक बड़ा उपहार दिया था। सेंट्रल यूनिवर्सिटी का यह नया कैंपस हमारी नई युवा पीढ़ी के लिए न केवल गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को सुनिश्चित करेगी बल्कि यह उनके लिए राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कई बड़े अवसर भी प्रदान करेगी।’’

जल वितरण परियोजनाओं को भी जनता को समर्पित करेंगे पीएम

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने इस गुजरात दौरे पर कई विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन और भूमि पूजन करेंगे। इसमें जल वितरण से संबंधित 660 करोड़ रुपए की लागत वाली कई परियोजनाएँ भी शामिल हैं। पीएम इस दिन 395 करोड़ रुपए से अधिक के जल वितरण परियोजनाओं का लोकार्पण और लगभग 264 करोड़ रुपए के जल वितरण प्रोजेक्ट्स का ई-शिलान्यास करेंगे, जिसका लाभ राज्य के लगभग 16 लाख से अधिक लोगों को होगा।

जल वितरण की इन परियोजनाओं में 6 Sewage Treatment Plant (STPs) का लोकार्पण भी शामिल है। ये STPs खेड़ा, मेहमदाबाद, कंजरी, बोरसद, उमरेठ और करजण में स्थापित किए गए हैं। इन STPs का लाभ राज्य के लगभग 2 लाख से अधिक लोगों को होगा। गुजरात के लिए ये STPs इसलिए महत्वपूर्ण हैं क्योंकि इससे स्वच्छ पानी पर राज्य की निर्भरता कम होती है।

गौरतलब है कि वर्तमान में गुजरात में 796 MLD पानी को STPs के माध्यम से ट्रीटेड वेस्ट वॉटर के रूप में उपयोग में लाया जाता है। वहीं, 159 MLD की क्षमता वाले STPs की स्थापना का काम अभी निविदा प्रक्रिया में है और भविष्य में भी अतिरिक्त 860 MLD पानी को STPs के माध्यम से शुद्ध कर दोबारा उपयोग में लाए जाने की योजना है।

गुजरात आयकर विभाग को मुखबिरों को इनाम देने में लगे 10 साल, यहाँ जानें क्यों?

Your email address will not be published.