पंजाब, गुजरात में हैं बिना फटे बम और बारूदी सुरंगें: कनाडा ने जारी की ट्रैवल एडवाइजरी

| Updated: September 29, 2022 5:10 pm

भारत के लिए एक अद्यतन यात्रा सलाह में, कनाडा ने अपने नागरिकों को पंजाब, गुजरात और राजस्थान सहित कुछ राज्यों का दौरा करते समय उच्च स्तर की सावधानी बरतने की सलाह दी है।

कनाडा ने अपने नागरिकों को गुजरात, पंजाब और राजस्थान की यात्रा से बचने की सलाह दी है। यात्रा की सूरत में पूरी सतर्कता (high degree of caution) बरतने को कहा गया है। विदेश मंत्रालय की सलाह के एक बाद यात्रा को लेकर आई नई सलाह यानी अपडेटेड ट्रैवल एडवाइजरी (travel advisory) में कहा गया है, ‘अप्रत्याशित सुरक्षा स्थिति और बारूदी सुरंगों और बमों की मौजूदगी के कारण पाकिस्तान सीमा से लगे भारतीय राज्यों-गुजरात, पंजाब और राजस्थान में 10 किलोमीटर के भीतर के क्षेत्रों में यात्रा करने से बचें।

नई एडवाइजरी में कनाडा के लोगों को उग्रवाद और आतंकवाद के कारण (insurgency and terrorism) असम, मणिपुर और केंद्र शासित जम्मू-कश्मीर और लद्दाख की यात्रा करने से भी बचने की सलाह दी गई है।

पाकिस्तान की सीमा से लगे गुजरात, पंजाब और राजस्थान के लिए कनाडा सरकार ने ‘ गैर-विस्फोटित हथियारों’ (unexploded devices) के साथ ‘बारूदी सुरंगों की मौजूदगी’ का हवाला दिया है।

इससे पहले, भारत ने 23 सितंबर को कनाडा में अपने नागरिकों और छात्रों को देश में बढ़ते अपराधों और भारत विरोधी गतिविधियों को देखते हुए सतर्क रहने के लिए एक सलाह जारी की थी। विदेश मंत्रालय (MEA) ने प्रवक्ता अरिंदम बागची ने ब्रैम्पटन में हुए तथाकथित खालिस्तान जनमत संग्रह (so-called Khalistan referendum) को लेकर कनाडा सरकार से असंतोष जताया था। खासकर उससे निपटने के तौर-तरीकों पर गंभीर शिकायत दर्ज कराई थी। पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा था, “हमें यह बेहद आपत्तिजनक लगता है कि एक मित्र देश में चरमपंथी तत्वों (extremist elements) द्वारा राजनीति से प्रेरित काम होने दिया जाता है। आप सभी इस संबंध में हुई हिंसा के इतिहास से वाकिफ हैं। इसलिए भारत सरकार इस मामले में कनाडा सरकार पर दबाव बनाना जारी रखेगी। ”

Also Read: पासपोर्ट के लिए पुलिस क्लीयरेंस लेना हुआ आसान, ऑनलाइन करें अप्लाई

Your email address will not be published. Required fields are marked *