जम्मू-कश्मीर मे जेल के DG की गला रेतकर हत्या, जैश के सहयोगी संगठन PAFF ने ली जिम्मेदारी

| Updated: October 4, 2022 12:35 pm

श्रीनगरः जम्मू-कश्मीर के जेल पुलिस महानिदेशक हेमंत  कुमार लोहिया की गला रेतकर हत्या कर दी गई है। उनका शव सोमवार देर रात उदयवाला स्थित से मिला।  शव को जलाने की भी कोशिश की गई है। घटना के बाद से फरार घर के नौकर पर ही हत्या का संदेह है। उसका नाम यासिर है। इस बीच, पाकिस्तान समर्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद  से जुड़े पीपुल्स एंटी-फासिस्ट फ्रंट (PAFF) ने इस हत्या की जिम्मेदारी ली है। हालांकि पुलिस मामले में हर संभव एंगल से जांच कर रही है।

इस बीच, पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने इसे ‘बेहद दुर्भाग्यपूर्ण’ घटना करार दिया है। कहा कि उनके घरेलू नौकर यासिर को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान शुरू कर दिया गया है, जो फरार है।  सिंह ने कहा कि हत्यारे ने 57 वर्षीय लोहिया के शरीर को आग लगाने का भी प्रयास किया था। लोहिया को अगस्त में ही केंद्र शासित प्रदेश में जेलों के महानिदेशक के रूप में प्रमोशन दिया गया था।

जम्मू क्षेत्र के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक   मुकेश सिंह ने जम्मू के बाहरी इलाके में उदयवाला में घर का दौरा किया। उन्होंने कहा कि 1992 बैच के आईपीएस अधिकारी लोहिया के शरीर पर जलने के निशान और उनका गला कटा हुआ पाया गया था। सिंह ने कहा, “यह सामने आया है कि घरेलू नौकर यासिर अहमद मुख्य आरोपी है। शुरुआती जांच से पता चलता है कि वह अपने व्यवहार में काफी आक्रामक  था और वह अवसाद में भी था।”

सिंह ने आगे कहा कि शुरुआती जांच के अनुसार, यह कोई आतंकवादी घटना नहीं है। फिर भी किसी भी संभावना से इनकार करने के लिए गहरी जांच की जा रही है। उन्होंने कहा, “अपराध के हथियार के अलावा उसकी मानसिक स्थिति को दर्शाने वाले कुछ दस्तावेजी सबूत भी बरामद किए गए हैं।”

घटना स्थल की प्रारंभिक जांच से संकेत मिलता है कि लोहिया ने अपने पैर में कुछ तेल लगाया होगा, जिसमें कुछ सूजन दिखाई दे रही  थी। पुलिस प्रमुख ने कहा कि हत्यारे ने पहले लोहिया को मौत के घाट उतारा था, फिर गले को काटने के लिए केचप की टूटी हुई बोतल का इस्तेमाल  किया। बाद में शव को आग लगाने की कोशिश की थी।

अधिकारी के आवास पर मौजूद गार्डों ने लोहिया के कमरे के अंदर आग देखी। उन्होंने बताया कि दरवाजा अंदर से बंद होने के कारण उन्हें तोड़ना पड़ा। एडीजीपी ने कहा कि अभी तक की जांच हत्या की ओर इशारा करती है। फोरेंसिक और अपराध दल मौके पर हैं।

Also Read: तलाक से पहले घर छोड़ने वाली महिलाएं बाद में पति के घर में रहने का दावा नहीं कर सकतीं: HC

Your email address will not be published. Required fields are marked *